Sunday, 10 June 2018

अन्तर्राष्ट्रीय आर्य महासम्मेलन दिल्ली : 25-26-27 एवं 28 अक्टूबर, 2018



32 देशों के लाखों आर्यजनों का एक साथ एक स्थान पर मिलन का सुनहरा अवसर 
प्रमुख आकर्षण
मुख्य पंडाल: विश्वभर से पधारे विद्वानोंकार्यकर्ताओंअधिकारियों एवं आमंत्रित अतिथियों द्वारा राष्ट्र व विश्व के समक्ष मौजूदा समस्याओं के वैदिक समाधान तथा आर्य समाज के विश्व व्यापी संगठन के वर्तमान कार्यों की जानकारी। साथ ही भविष्य के आर्य समाज के नए स्वरुप का प्रस्तुतिकरण।  
अनुषंगी हॉल : मुख्य पंडाल के अतिरिक्त अनेक अलग-अलग हॉल में विभिन्न आयु/भाषा/रुचि वाले आगंतुकों हेतु अलग-अलग विषयों पर विशेष व्याख्यानचर्चाएंशंका समाधानचलचित्र आदि के कार्यक्रम चलते रहेंगें। 

आर्य प्रकाशक हॉल: वैदिक धर्म एवं आर्यसमाज से सम्बन्धित साहित्य प्रकाशित करने वाले विश्वभर के आर्य प्रकाशकों का विराट संगम यहां होगा जिसमें एक लेखक मंच भी होगा जहां नए-नए लेखक एवं प्रकाशक अपनी कृतियों का परिचय देंगे।

गौशाला : एक आदर्श वैदिक परम्परा के नगर की संकल्पना जिसमें दुधारु गऊओं की गौशाला होगी।

यज्ञशाला : भव्यसुन्दरआदर्श शिल्प का नमूनाजिसे देखकर मन रोमांच से भर जाए।


लघु गुरुकुल: प्राचीन काल के गुरुकुल के सुन्दर दृश्य की जीवंत झांकी।

पूर्णकालिक यज्ञ: मुख्य यज्ञशाला के अतिरिक्त एक ऐसी यज्ञशाला भी होगी जहां निरन्तर यज्ञ होता रहेगा। आगन्तुक जब चाहें तब जाकर अपने परिवार/मित्रों के साथ यज्ञ कर सकते हैं। महासम्मेलन की वेबसाईट पर अपनी सुविधानुसार समय पर स्थान आरक्षित करवाएं।

ध्यान-योग : प्रतिदिन प्रातः खुले मैदान में योग साधनाप्राणायाम एवं ध्यान की क्रियाओं का प्रशिक्षण। इसके उपरान्त ध्यान एवं योग साधना कक्षों में समय-समय पर विभिन्न विद्वानों द्वारा चर्चाएं एवं साधनाएं।

सामूहिक यज्ञ प्रदर्शन: इस बार विशेष रूष से विश्व इतिहास में पहली बार 10 हजार बच्चोंयुवाओं एवं आर्यजनों द्वारा एक साथ सामूहिक रूप से एक रूपीय यज्ञ प्रदर्शन कार्यक्रम करने का प्रयास होगा।
आर्य वीर दल शाखा : प्रतिदिन प्रातःकाल आर्य समाज की युवाशक्ति का नयनाभिराम दर्शन।

भव्य व्यायाम कला प्रदर्शन: देश के विभिन्न राज्यों से आर्य वीर दल एवं आर्य वीरांगना दल के चयनित आर्य वीरों/ आर्य वीरांगनाओं द्वारा अद्भुतअदम्य साहस से परिपूर्ण कलाओं का प्रदर्शन। व्यायामभालातलवारबाजीलाठीनानचकजुडोकराटे, आत्म रक्षा तकनीकों आदि का प्रदर्शन। 


विचार टीवी मूवी हॉल: 100 से अधिक फिल्मों का प्रदर्शन किया जाएगा।


सांस्कृतिक कार्यक्रम हॉल: आर्य समाज के इतिहास की सत्य घटनाओं का रोमांचक नाटिकाओं के माध्यम से प्रदर्शन।


विभिन्न भाषा हॉल: विश्व भर से पधारे विद्वानों द्वारा उनकी स्थानीय भाषाओँ में प्रवचन।

भजनोपदेश हॉल: विश्व भर से पधारे भजनोपदेशकों द्वारा पूर्णकालिक भजन प्रस्तुति।

गुरुकुल हॉल: आर्ष गुरुकुलों की परम्परा एवं संस्कृति प्रदर्शित करते पूर्णकालिक हॉल।

शंका समाधान हॉल : सुयोग्य विद्वानों द्वारा आगंतुकों की शंका का समाधान करने हेतु पूर्णकालिक हॉल।
प्रतियोगिताएं: गुरुकुलों एवं आर्य विद्यालयों के विद्यार्थियों हेतु पूर्णकालिक प्रतियोगिता हॉल।

विश्व आर्य समाज हॉल: विभिन्न देशों से पधारे आर्य जनों द्वारा उनके देशों में चल रही आर्य समाज की गतिविधियों को जानने का स्वर्णिम अवसर।

पर्यावरण एवं यज्ञ विज्ञान हॉल: पर्यावरण एवं यज्ञ के परस्पर वैज्ञानिक सम्बन्ध को दर्शाने हेतु विशेष हॉल।

नुक्कड़ नाटक: समसामयिक विषयों को पर समाज में जागरूकता लाने हेतु खुले मंच पर नुक्कड़ नाटकों का मंचन।

अन्धविश्वास निवारण हॉल: योग्य जादूगर द्वारा चमत्कारों का भंडाफोड़।   


विश्वमार्यम हॉल: सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में आर्य समाज की कार्य एवं गतिविधियों की जानकारी देने हेतु विशेष हॉल।


वैवाहिक परिचय सम्मेलन: महासम्मेलन में एक दिन समस्त आर्यजगत के लिए आर्य परिवारों के विवाह योग्य युवक-युवतियों का वैवाहिक परिचय सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। आप भी अपने विवाह योग्य बच्चों का पंजीकरण वेबसाइट पर कराएं। matrimony.thearyasamaj.org

प्रदर्शनी: आर्यसमाज के इतिहास एवं सिद्धान्तोंसंगठनकर्तव्योंघटनाओं का प्रदर्शन चित्र दीर्घा के माध्यम से होगा। 

लेजर शो: महासम्मेलन के एक दिन सायंकाल महर्षि दयानन्दआर्यसमाजइतिहासवर्तमानभविष्य की संकल्पना लिए एक अद्भुत प्रेरक कार्यक्रम जो चमकेगा सितारों के बीच आकाशवाणी की तरह।
सुन्दर सजावट : पूरे महासम्मेलन स्थल के विभिन्न स्थानों पर भिन्न-भिन्न प्रकार की सुन्दर यादगार रखने लायक सजावट की जाएगी।

विभिन्न सांस्कृतिक विरासतों का प्रदर्शन: महासम्मेलन के अवसर पर विभिन्न आदिवासी क्षेत्रों से पधारे आर्य कार्यकर्ताओं द्वारा विभिन्न क्षेत्रीय सांस्कृतिक विरासतों का दर्शनीय प्रदर्शन।


साहित्य बाजार: विश्वभर के वैदिक साहित्य के प्रकाशकों द्वारा प्रकाशित वैदिक साहित्य तथा प्रचार सामग्री के क्रय की सुविधा रहेगी। पुस्तकों पर 10% की अनिवार्य छूट दी जाएगी।

रिकॉर्डिंग स्टूडियो: विश्व के कोने कोने से पधारे विद्वानों, भजनोपदेशकों एवं कार्यकर्ताओं के विडियो रिकॉर्ड करने की महासम्मेलन स्थल पर ऑडियो - वीडियो रिकॉर्डिंग स्टूडियो।  



स्मारिका : एक भव्य स्मारिका का प्रकाशन किया जाएगा जिसमें सुन्दरप्रेरणास्पद लेखकविताएं एवं रचनाओं के साथ-साथ विभिन्न आर्य संस्थाओंसहयोगी संगठनोंशुभचिन्तकों के आशीर्वादशुभकामना सन्देश भी प्रकाशित किए जाएंगे। यदि आप अपने परिवारी जनोंप्रियजनों की स्मृति में सन्देश प्रकाशित कराना चाहें तो करा सकते हैं। अपेक्षित शुल्क राशि देय होगी।

सुविधाएँ एवं व्यवस्थाएँ

पंजीकरण : अन्तर्राष्ट्रीय आर्य महासम्मेलन में भाग लेने के लिए पधारने वाले समस्त आर्यजनों को महासम्मेलन में व्यवस्था एवं सुरक्षा की दृष्टि से पंजीकरण करवाना अनिवार्य है। महासम्मेलन स्थल के मुख्य द्वार पर ही प्रत्येक आगंतुक को प्रवेश/पहचान पत्र जारी किया जाएगा। वेबसाईट पर अग्रिम पंजीकरण करवाकर आने वाले आगंतुकों की  पंजीकरण प्रक्रिया शीघ्र पूर्ण हो जाएगी।  

आवास: पधारने वाले समस्त आर्यजनों के आवास की निःशुल्क व्यवस्था प्रान्तानुसार धर्मशालाओंविद्यालयोंआर्यसमाजों एवं महासम्मेलन स्थल पर बनाए गए टैंटों के विभिन्न ब्लॉकों में होगी। होटल एवं महासम्मेलन स्थल पर सशुल्क आवास में ठहरने की सुविधा महासम्मेलन से पूर्व अग्रिम राशि जमा कराने पर उपलब्ध होगी। इस सुविधा हेतु फार्म महासम्मेलन वेबसाईट पर उपलब्ध है। वेबसाईट पर भी होटल ऑनलाईन बुक किया जा सकता है।  
                 
भोजन: महासम्मेलन स्थल पर 24 से 28 अक्टूबर तक चौबीसों घण्टे भोजन की निःशुल्क व्यवस्था रहेगी।

परिवहन: दिल्ली के प्रमुख रेलवे स्टेशनों तथा बस अड्डों से महासम्मेलन स्थल पर पहुंचाने तथा महासम्मेलन के अन्तिम दिन महासम्मेलन स्थल से रेलवे स्टेशनों- नई दिल्लीपुरानी दिल्लीनिजामुद्दीनआनन्द विहारसराय रोहिल्ला बस अड्डों- कश्मीरी गेटआनन्द विहारसराय काले खां आदि स्थानों के लिए बसों की निःशुल्क व्यवस्था रहेगी। 


भ्रमण: महासम्मेलन के अन्तिम दिन तथा उससे अगले दिन दिल्ली भ्रमण तथा विशेषकर उत्तर भारत के पर्यटन स्थलों के भ्रमणार्थ बसों की व्यवस्था अपेक्षित शुल्क पर उपलब्ध रहेगी।
महासम्मेलन बैंक : सुरक्षा की दृष्टि से महासम्मेलन स्थल पर बैंक ;लॉकरद्ध की व्यवस्था  रहेगी। आप अपनी नकदी एवं कीमती सामान जमा कर सकेंगे।

एटीएम: चल एटीएम की सुविधा रहेगी। आवश्यकता होने पर एटीएम से पैसे निकाल सकेंगे।


कैन्टीन: महासम्मेलन में निशुल्क भोजन के अतिरिक्त कैन्टीन भी होगी जहां पर आगंतुक अपनी इच्छा एवं स्वादानुसार सःशुल्क चायनाश्तास्नैक्सलंचडिनर आदि का आनन्द  ले सकेगें।

स्नानागार व शौचालय : आगंतुकों के लिए स्नानागार एवं शौचालय की निःशुल्क एवं सशुल्क दोनों  व्यवस्थाएं उपलब्ध रहेगी।

स्वच्छ पेयजल: पेय जल की निःशुल्क व्यवस्था के साथ जल एटीएमबोतलें एवं गिलास की सशुल्क सुविधा (न्यूनतम मूल्यों पर) उपलब्ध रहेगी।

चिकित्सा सुविधा: महासम्मेलन स्थल पर प्राथमिक चिकित्सा एवं आपातकालीन व्यवस्था उपलब्ध रहेगी। 24 घण्टे एम्बूलेंस की व्यवस्था भी रहेगी।

स्वास्थ्य जांच: सब सन्यासियों, विद्वानों एवं कार्यकर्ताओं की निःशुल्क स्वास्थ्य जांच।

अमानती सामान घर: आर्यजनों को अपना अतिरिक्त सामान अपने साथ-साथ लिए न घूमना पड़े इस हेतु महासम्मेलन स्थल पर ही अमानती सामान घर की सुविधा उपलब्ध रहेगी।

खोया-पाया विभाग: महासम्मेलन स्थल पर कोई सामान आपको पड़ा मिले तो उसे खोया-पाया विभाग में जमा करा कर आर्यत्व का परिचय देवेंजिससे वह सामान उचित व्यक्ति को प्राप्त हो सके।
स्मृति चित्र : अपना स्मृति फोटो खिंचवा कर उसे फोटो फ्रेम के साथ सशुल्क प्राप्त करें।

चार्जिंग स्टेशन: आर्यजनों की सुविधार्थ मोबाईल एवं लैपटॉप चार्ज करने के लिए निःशुल्क तथा सशुल्क सुविधा उपलब्ध होगी।

मोबाईल रिचार्ज: महासम्मेलन स्थल पर सभी मोबाइल कम्पनियों के मोबाइल रिचार्ज की सुविधा उपलब्ध रहेगी। 

सी.सी.टी.वी.: सुरक्षा व्यवस्था को दृष्टिगत रखते हुए सम्पूर्ण महासम्मेलन स्थल तथा आस-पास की गतिविधियों को रिकार्ड करने के लिए सी.सी.टी.वी. कैमरों की व्यवस्था की गई है।

साइबर कैफे: आगंतुकों के प्रयोगार्थ साइबर कैफे एवं फोटोकापी की सशुल्क सुविधा उपलब्ध रहेगी।



सीधा प्रसारण: अन्तर्राष्ट्रीय आर्य महासम्मेलन के उद्घाटनसमापनआर्य वीर दल प्रदर्शन तथा सभी प्रमुख आयोजनों का विभिन्न टीवी चैनलों, महासम्मेलन वेबसाइट एवं सोशल मीडिया पर सीधा प्रसारण किया जाएगा। 


रेलवे छूट: रेल मार्ग द्वारा भारत के विभिन्न राज्यों से पधारने वाले आर्य महानुभावों के लिए भारतीय रेल द्वारा रेलभाड़े में 50% की छूट दी जाएगी। यह छूट केवल शयनयान (स्लीपर) श्रेणी के यात्रियों को उपलब्ध होगी।

व्हील चेयर: व्हील चेयर केवल धरोहर राशि पर उपलब्ध रहेगी।

बच्चों सम्बन्धी सुविधाए : छोटे बच्चों की हाथ गाड़ी (pram) केवल धरोहर राशि पर उपलब्ध रहेगी।
मातृ सुविधा गृह : वर्ष तक के बालक के साथ माता के विश्राम तथा शिशु पालन सम्बन्धी सुविधाओं के साथ निःशुल्क हाल की व्यवस्था होगी।
बच्चों का कोना : 6 से 12 वर्ष तक के बच्चों के मनोरंजनखेलकूदफिल्म दिखाने की पूरी सुविधा होगी।

महासम्मेलन स्मृति चिन्हों की नीलामी : महासम्मेलन समापन के पश्चात् महासम्मेलन में सज्जा हेतु बनवाई गई सुंदर वस्तुओं को स्मृति चिन्ह के रुप में घर ले जाने हेतु उनकी नीलामी की जायेगी। नीलामी हेतु वस्तुओं की सूची फोटो सहित वेबसाइट पर 24 अक्तूबर 2018 से उपलब्ध रहेगी।
विशाल आर्य वीर दल सेवा शिविर : महासम्मेलन में विभिन्न व्यवस्था कार्यों को सम्भालने वाले हजारों आर्य वीरों एवं आर्य वीरांगनाओं हेतु महासम्मेलन परिसर में विशाल आर्य वीर दल सेवा शिविर आयोजित किया जायेगा।

सन्यास/वानप्रस्थ ग्रहण: सन्यास/वानप्रस्थ आश्रम ग्रहण करने हेतु महासम्मेलन में विशेष सुविधा रहेगी।

वैदिक संस्कार: महासम्मेलन स्थल पर विशेष यज्ञ शाला में विभिन्न वैदिक संस्कार कराने हेतु  सुंदर व्यवस्था रहेगी।

सोशल मीडिया कार्य प्रशिक्षण: महासम्मेलन में सोशल मीडिया पर कार्य करने हेतु विशेष प्रशिक्षण देने की व्यवस्था की जाएगी।

यज्ञ प्रशिक्षण कक्षा: यज्ञ करने की सही विधि का प्रशिक्षण देने हेतु विशेष कक्षाओं का आयोजन किया जायेगा।

प्रतिनिधित्व: भारत के लगभग सभी राज्यों के साथ-साथ विश्व के लगभग 32 देशों के आर्यजनों का इस महासम्मेलन में प्रतिनिधित्व होने का अनुमान है।

विशेष निवेदन



महासम्मेलन में पधारने वाले समस्त आर्य बन्धुओं से निवेदन है कि अपने पधारने की पूर्व सूचना (आवासभोजन एवं परिवहन की व्यवस्था में सुविधा की दृष्टि से) यथाशीघ्र अवश्य भेजें ताकि तदनुरुप व्यवस्थाएं बनाई जा सकें। महासम्मेलन सम्बन्धी विस्तृत जानकारियाँ एवं अग्रिम पंजीकरण की सुविधा महासम्मेलन की वेबसाइट www.aryamahasammelan.org पर उपलब्ध है।

हमारा प्रयास है कि हम समस्त श्रद्धालुओं को बेहतर सुविधा एवं वातारण दे पायें जिससे कि वे सब तरफ से ध्यान हटाकर महासम्मेलन में विद्वान वक्ताओं द्वारा दिए जाने वाले उद्बोधनों का ध्यानपूर्व श्रवण-मनन करके अपने-अपने क्षेत्रों में जाकर उसकी भावनाउन्हीं विचारों को प्रतिपादित कर सकें।
इस महासम्मेलन का उद्देश्य आर्यसमाज के संगठन को शक्तिशाली बनाना सभी आर्यजनों को अपने कार्यकर्ताओं के प्रति जागृत करना तथा वर्तमान सभी ज्वलन्त समस्याओं पर आर्यसमाज की  महत्वपूर्ण भूमिका का निर्धारण करना है जिसमें आप सभी की सक्रिय सहभागिता अपेक्षित है।
आशा ही नहीं पूर्ण विश्वास है कि महासम्मेलन को व्यवस्थितसुन्दर एवं सफल बनाने में हमें आपका पूर्ण सहयोगसद्भाव अवश्य ही प्राप्त होगाजिससे हम और आप मिलकर  इस महासम्मेलन को एक यादगारप्रेरक एवं उर्जावान स्मृति बना सकेंगे।
सुविधा की दृष्टि से आगन्तुक आर्य बन्धु (ग्रुप) में अपना विवरण पहले भेज देंगे तो उन्हें पहचान पत्र तैयार मिल जाएंगे।
                                                            भवदीय                     
  (प्रकाश आर्य)                                                                                            (धर्मपाल आर्य)           मन्त्री सार्वदेशिक सभा                                                                            महासम्मेलन संयोजक
                                                             



3 comments:

  1. ओ३म्
    अति उत्तम व्यवस्था है

    ReplyDelete
    Replies
    1. आभार भोगी प्रसाद जी

      Delete
  2. व्यवस्था के श्लाघनीय प्रयास ।

    ReplyDelete